Facebook Loan for Business

Business ke liye facebook loan  दे रहा है फेसबुक जिसको आप अपने दोस्तों के साथ फोटो और वीडियो शेयर करने के लिए  इस्तेमाल करते हैं, अब यह सोशल नेटवर्किंग साइट  भारत के छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए अपनी एक लोन स्कीम शुरू करने जा रही है और यह स्कीम लगभग 200 शहरों में … Read more

MTM ka meaning Stock market में क्या होता है |Why MTM Change | ATP | LTP

what is work of MTM in stock market

MTM  ka meaning stock market में kya hota hai MRM ka Meaning Mark to Market होता है, Stock Market me. Mark to Market Stock Market.ये हमेशा ऊपर नीचे करता रहता है। एग्जिट करने के बाद भी ये चेंज क्यों होता रहता है. MTM मार्केट में कैसे काम करता है|मतम इन शेयर मार्किट सबसे पहले MTM  को … Read more

What is nifty 50| NSE BSE|WHICH IS BETTER NSE OR BSE IN HINDI

शेयर बाजार STOCK MARKET भारतीय स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग कैसे किया जाता है? जैसा कि आपको नाम सही पता लग रहा है बाजार बाजार का मतलब  जहां पर आप कोई सामान खरीदने  या बेचने जाते हैं यह ऐसी  जगह होती है जहां पर सभी लोग एक जगह पर इकट्ठे होकर के खरीदते और बेचते है  … Read more

Neeraj Chopra total networth|personal life|life Style|Neerja Chopra Life Secrets

Neeraj chopra causal images home

Neerjla Chopra को लड़के मोटा सरपंच बोलकर चिढ़ाते थे. 90 kg का सरपंच  Secret facts of Neeraj Chopra नीरज के पिताजी  एक किसान है , नीरज जब 12 साल के थे तब उनका वजन बहुत ज्यादा था लगभग लगभग 90 किलो के आसपास  तब गांव के लड़के नीरज को मोटा सरपंच कह कर  चिढ़ाते थे  … Read more

What is call put |call and put option trading kya hai hindi me

Call and Put kya hai| put option me kaise trade karte hai कॉल  और पुट आज यहां पर हम आप लोगों को बहुत ही आसानी से समझाने की कोशिश करेंगे मेरी यह कोशिश रहेगी कि इस पोस्ट में मैं आपको या उन नए लोगों को जो यहां पर अभी नए-नए हैं स्टॉक मार्केट में आसानी से समझ … Read more

What is Stock Market |How to learn stock market in free| intraday se kaise paise kamaye

शेयर मार्केट में नये लोगों को सबसे पहले क्या सीखना चाहिए ? यह टॉपिक उन लोगों के लिए है जो शेयर मार्केट में एकदम नए  या एक बिगिनर्सनर्स है और उनको मार्केट के बारे में कुछ भी नहीं पता और वह बहुत ही उत्शुकता के साथ या कहें कि बहुत ही ज्यादा एनर्जी इस मार्केट में आना चाहते हैं और नई चीजें सीखकर इसमें पैसा बनाने की कोशिश करना चाहते हैं| तो शेयर मार्केट में आने के लिए सबसे पहले आपको किन बातो का ध्यान रखना चाहिए जहां पर ज्यादा देखा गया है कि लोग इसको एक गेम की तरह सोच कर के आते हैं कि यह पैसा बनाने की मशीन है यहां पर हम आएंगे कुछ पैसा डालेंगे और अपना पैसा डबल कर के शाम को चले जायेंगे ऐसा नहीं होता है या अगर आप एक जॉब भी करते हैं और अपनी जॉब को बहुत ही रोजाना एक वह काम करते हैं तो आपकी  कंपनी आपको महीने के आखिर में आपको कुछ पैसे देती है जिसको आप सैलरी बोलते हैं|अब बात करते हैं यहां पर ट्रेडिंग को लेकर की ट्रेडिंग अगर आप करते हैं या आप स्टॉक मार्केट में आते हैं तो स्टॉक मार्केट में जो लोग आते है वह लोग दो तरह के लोग होते हैनंबर 1 वह निवेशक के तौर पर आते हैं और नंबर दो वह रोज  पैसा कमाना चाहते हैं इसलिए वह एक इंट्राडे के तौर पर आते हैं और अगर देखा जाए तो ज्यादातर लोग इसी तरीके से आना पसंद करते हैं जिसको इंट्राडे ट्रेड बोलते हैं क्योंकि वहां पर उनको लंबे समय तक इंतजार नहीं करना इंट्राडे ट्रेडर के लिए नियम और शर्तें जोखिम लेने की आदत मार्केट बहुत ही अनिश्चित होता है वह कभी भी किसी भी दिशा में भाग सकता है यानी कि बोला जाए कि आपने जिस दिशा को देख करके आपने उसमें पोजिशन बनाई है तो वह आपकी उलटी दिशा में जा सकता है तो कह कि आपको एक जोखिम लेने की आदत होनी चाहिए| आपको घबराहट में आ करके अपनी पोजीशन नहीं काटनी चाहिए इसका मतलब यह नहीं कि आप अपना स्टॉपलॉस लगाकर के काम नहीं करेंगे आपको हमेशा stop-loss लगा काम करना है रिस्क और रिवॉर्ड का अनुपात यह बहुत ही सीधा सा कंसेप्ट है लेकिन लोगों को जल्दी समझ में नहीं आता है हर कोई इसमें गलती करता है हर दिन गलती करता है और अपना बहुत सारा पैसा खो देता है मार्केट में तो सीधा सा मतलब इसका यह है कि अगर आपने दिन में चार ट्रेड लिया है चार ट्रेड में से अगर आपके दो ट्रेड गलत हो जाते हैं और 2 ट्रेड सही होते हैं लेकिन जो दो ट्रेड सही होते हैं उनका लाभ आप के नुकसान से ज्यादा होना चाहिए इसका मतलब यह है कि आप पूरे दिन में लाभ ले करके ही निकले अगर आप इस रूल को फॉलो कर ले जाते हैं तो यकीन मानिए आप एक अच्छे ट्रेडर बन  सकते हैं | रिवेंज ट्रेड से दूर रहना | बदला लेने वाली ट्रेड एक बहुत ही बड़ा सबक होता है उन लोगों के लिए या बोले कि lesson  होता है जो दिन में बहुत सारे गलत सौदे लेते हैं और उन सौदों को काट नहीं पाते हैं उसके बाद क्या होता है कि वह अपने मुनाफा कमाने के चक्कर में एक के बाद एक गलत सौदे लेते चले जाते फिर अंत में में थक हार कर के अपना बहुत बड़ा नुकसान कर देते हैं और पूरे दिन अगर उनका नुकसान देखा जाता है तो नुकसान हो सकता है वह पूरे महीने का लाभ उन्होंने पूरे महीने में जो भी प्रॉफिट कमाया है वह सारा का सारा प्रॉफिट लॉस में बदल जाता है | इसलिए हमेशा आप इस ट्रेड से दूर रहे यानी कि अगर आप उस दिन जिस दिन आपका नुकसान होता है आप कुछ समय के लिए अपना ट्रेडिंग बंद कर दें या फिर आप उस दिन ट्रेड ही ना करें क्योंकि हो सकता है वह दिन आपके लिए अच्छा ना हो इसका मतलब मेरा कहने का यह है,कि यहां पर आपके हिसाब से मार्केट की डायरेक्शन आपके फेवर में नहीं है और आप मार्किट की चाल को पकड़ नहीं पा रहे है या आप मार्केट की चाल को नहीं समझ पा रहे हैं और हर दिन ऐसा कुछ ना कुछ होगा कि आप मार्केट की चाल को नहीं समझ पाएंगे तो उस दिन सबसे अच्छा यही होगा कि आप अपने ट्रेड को बंद कर दो| बिना स्टॉपलॉस लगाएं काम ना करें  लोगो की आदत होती है की बिना stop-loss ट्रेड करना और बिना स्टॉपलॉस के  ये लोग बहुत बड़ा नुकसान कर बैठते हैं तो स्टॉपलॉस अगर आप लगाते हैं तो वहां पर आपका Stop Loss अगर हिट होता है तो आपका थोड़ा ही बहुत नुकसान होता है लेकिन सोचिए अगर आपका स्टॉपलॉस नहीं लगाया है तो आपका पूरा का पूरा अकाउंट ही खाली हो जाएगा तो स्टॉपलॉस लगे जरूर लगाएं | सही वक्त का इंतजार दोस्तों यहां पर सही वक्त का इंतजार का मतलब सही टाइम से है इसका मतलब यह है कि अगर आपको अभी तक कोई सही ट्रेड नहीं मिल पाई है तो आप गलत ट्रेड ना ले हो सकता है कि दिन के आखिर में यानी कि जब आधा घंटा यह 15 मिनट बचा हो सकता है उस दिन आपको ट्रेड ना मिले तो मेरा यह कहना है आपसे कि आप कभी भी ट्रेड लेने के लिए जल्दीबाजी ना करें हो सके तो सुबह का वक्त जिस समय मार्केट खुलता है उस समय आप बिल्कुल भी मार्केट को सही दिशा पकड़ने दें जब आपको दिशा का पता लग जाए तो उसी समय आप मार्केट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं इससे यह होगा कि आप थोड़ा मार्किट को जाने दे जब आप शांत हो जाएंगे तो अपने दिमाग को शांत रखेंगे और ठंडे दिमाग से यानी कूल माइंड से लिया गया निर्णय  सही समय पर सही साबित होता है तो इसलिए आप हमेशा समझ कर ट्रेड ले यह मत देखें अरे इतना नुकसान हो गया इतना फायदा हो जाता ऐसी गलती कभी भी ना करें| इंट्राडे ट्रेडिंग से संबंधित नियम और शर्तें हैं जो एक ट्रेडर को अच्छा ट्रेडर बनाने में मदद करती है

Rakesh Jhunjhunwala Rag to riches life story| portfolio|Jhunjhunwala net-worth

jhunjhunwala networth in usd

Rakesh jhunjhunwala networth in USD मिस्टर राकेश झुनझुनवाला को भारत में बिगबुल के नाम से जाना जाता है या उनको बहुत सारे लोग इंडिया का  warren Buffet  भी बुलाते हैं, उन्होंने इतनी बड़ी संपत्ति कैसे हासिल की इसके बारे में इस आर्टिकल में पूरा आपको बताएंगे  Rakesh jhunjhunwala family members राकेश झुनझुनवाला का जन्म मुंबई में हुआ था और इनके पिता एक इनकम टैक्स ऑफिसर माताजी House wife थी, झुनझुन वाले के पिताजी भी स्टॉक मार्केट में काफी दिलचस्पी रखते थे तो उनको वहां से भी कुछ प्रेरणा मिली लेकिन बहुत ज्यादा वह इसमें वह काम नहीं करते थे| Jhunjhunwala ki Study राकेश झुनझुनवाला ने मुंबई के ही कॉलेज से Sydenham College अपनी पढ़ाई पूरी की और उन्होंने वहां से सन 1985 में अपना चार्टर्ड अकाउंटेंट C.A (charrterd Accountent) ka course complete kiya Jhunjhunwala ki Early Life and Carrier Life राकेश झुनझुनवाला और उसके दोस्त अक्सर शाम को जब बातें करते थे मिलते थे तो यह बात करते थे स्टॉक मार्केट के बारे में कि स्टॉक मार्केटमें हमेशा जो उसका प्राइस होता है, wo fluctuate क्यों करता हैं why stocks prices always be ups and down at same movement.तो उसके दोस्त ने बोला कि अगर ध्यान देना जब भी किसी न्यूज़पेपर Newspaper)) में 1 दिन पहले किसी भी कंपनी के बारे में खबर आएगी तो अगले दिन उस स्टॉक का प्राइस fluctuate  करेगा, राकेश झुनझुनवाला ने इस पर काम किया और देखा यह सच में ऐसा होता है और वह उसी तरह उस पर खींचे चले गए| Rakesh jhunjhunwal ka family pressure: राकेश सर अपने परिवार से और अपने पिताजी से जाकर बोला है कि वह स्टॉक मार्केट में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो उनके पिताजी ने  ने  कहा जो तुम्हारा मन है तुम कर सकते हो लेकिन किसी से पैसे उधार मत लेना यह सबसे बड़ी गलती होगी| उन्होंने बोला मैं मुंबई में रहता हूं और मेरे पास चार्टर्ड अकाउंटेंट … Read more

what is stop loss| Why stop loss hits

दोस्तों अपने जब भी trade  किया है तो अक्सर देखा होगा कि आप जब कोई स्टॉप लॉस लगाने हैं तो वह बहुत जल्दी हिट कर जाता है और हिट करने के बाद वापस आ जाता है तो इसका तरीका क्या है कि आप ऐसा स्टॉपलॉस लगाएं कि वह hit  ना करें या हिट करें तो … Read more

Vijay Kedia life success portfolio|networth

विजय केडिया  के  इन्वेस्टमेंट से संबंधित उनके कुछ नियम  First Rule kedia जी  बताते है ,कि निवेश करना बहुत ही सरल और simple बहुत ही कॉन्प्लेक्स या कठिन मत बनाइए अगर आप किसी चीज को इतना कठिन बना देंगे  की आप उसमें उलझ के रह जाएंगे, इसको जितना सिंपल अगर आप रखते हैं आपकी सोचने की और तर्क-वितर्क करने की क्षमता का उतना ही ज्यादा विकास होता है| Second Rule  विजय केडिया जी का सेकंड Rule में बताते  हैं कि हम में से हर किसी को जो भी अगर  एक अच्छा निवेशक बनना है तो  उसको अपने ब्रोकर के द्वारा पब्लिश की गई Report  को हर हफ्ते जरूर पढ़ना चाहिए और कम से कम हफ्ते में रिपोर्ट को  दो से तीन बार जरूर पढ़ना चाहिएवह ऐसा इसलिए करने को बोलते हैं क्योंकि ब्रोकर कि अपनी सोचने की क्षमता होती है उसका अपना खुद का किसी कंपनी के बारे में विश्लेषण करने का खुद का नजरिया होता है तो इसलिए हर एक ब्रोकर की रिपोर्ट को जरूर पढ़ना चाहिए| Third Rule उनका तीसरा नियम यह बोलता है कि निवेश करने के लिए या बहुत अच्छे निवेशक बनने के लिए किसी भी बहुत बड़ी डिग्री का होना जरूरी नहीं है यहां पर सिर्फ आपका ज्ञान और आपकी खुद की रिसर्च यानी कि उसमें आपने इतना गहन उसके अंदर जाकर किए आपने खोज की है किसी कंपनी की वह आपके काम आएगी ना कि आपकी कोई बहुत बड़ी Academic degree Fourth Rule उनका चौथा नियम यह बोलता है कि हर किसी को निवेश करने से पहले किसी भी कंपनी का बिजनेस मॉडल तो जाना ही चाहिए लेकिन उससे जरूरी है उस कंपनी का मैनेजमेंट अगर किसी भी कंपनी का मैनेजमेंट सबसे अच्छा है और वह उस को घाटे से निकाल कर के मुनाफे मैं ले आता है तो वह बोलते हैं कि जरूर वह उस कंपनी को मल्टीबैगर कंपनी बनाने की काबिलियत रखता है तो आप जब भी निवेश करें तो आप उस कंपनी का मैनेजमेंट जरूर से जरूर जाने, आपको मैनेजमेंट के बारे में बहुत ही अच्छा  उसका विश्लेषण करना चाहिए और मैनेजमेंट को जरा भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए Fifth Rule उनका पांचवा नियम यह बोलता है कि आपने जो भी निवेश किया है आपको हर 6 महीने में अपने निवेश को उसका पोस्टमार्टम करना चाहिए उसको जांचना चाहिए उसको फिर से देखना चाहिए कि कहां पर क्या कमी रह गई है कि हमें इसमें दोबारा से मौका मिलेगा अगर इसमें बहुत ज्यादा प्रॉफिट (profit) हो रहा है या लाभ हो रहा है तो वहां पर उसको थोड़ा सा प्रॉफिटबुक करके निकल जाना चाहिए और अगर नुकसान हो रहा है तो आपको वहां पर अगर कंपनी अच्छी है तो आप को और अपनी क्वांटिटी बढ़ा देनी चाहिए| यह थे कुछ vijay kedia जी के नियम जो कि उनके द्वारा बनाए गए हैं| आपको अगर अच्छी लगी है तो आप यहां पर एक लाइक जरुर दे दे और अगर कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें हम आपका उत्तर देने की कोशिश पूरी पूरी करेंगे|

Hedge Hedging हेजिंग क्या होती है| kaise karte hai

Stock Market में आपने जो स्टॉक खरीदे हैं या आप कोई ऑप्शन में ट्रेडिंग कर रहे हैं  उस जगह पर जितना रिस्क हो सकता है उस  होने वाले रिक्स से बचाने के लिए हमें अपनी पोजीशन को  हेज करना होता है  जैसे (delta hedging,gamma hedging,currency option hedge) इस तरह के कुछ हेज होते हैं स्टॉक मार्केट … Read more

close